Market Update

Saturday, 29 April 2017

Mcx Market Tips; experts-predict-cut-in-petrol-price-on-strong-rupee-business-news

Bullion Market Tips | Mcx Market Tips

1 से 2 रुपए सस्ता हो सकता है पेट्रोल, मजबूत रुपया और क्रूड में नरमी दिलाएगी राहत
आने वाले 2-3 दिन में तेल कंपनियां पेट्रोल की कीमतों में कटौती कर सकती हैं। रुपए में मजबूती के साथ क्रूड कीमतों में नरमी से कमोडिटी एक्सपर्ट मान रहे हैं कि कीमतों में कटौती की गुंजाइश बनी हुई है। एक्सपर्ट्स का अनुमान है कि अगर तेल कंपनियां कीमतें घटाती हैं तो ग्राहकों को पेट्रोल कीमतों में 1-2 रुपए प्रति लीटर तक राहत मिल सकती है। आम तौर पर तेल कंपनियां महीने के आखिरी दिन पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बदलाव करती हैं।
क्रूड में नरमी और रुपए में मजबूती से राहत

मनीभास्कर से बातचीत में सभी कमोडिटी एक्सपर्ट्स ने माना कि रुपए में मजबूती और क्रूड में नरमी से तेल कीमतों में कटौती की संभावना बन गई हैं। एक्सपर्ट्स के मुताबिक पेट्रोल में 1 से 2 रुपए की कटौती संभव है। ज्यादातर एक्सपर्ट्स आने वाली पॉलिसी समीक्षा में कटौती की उम्मीद कर रहे हैं। वहीं कुछ एक्सपर्ट का मानना है कि तेल कंपनियां इससे अगली समीक्षा में ही कटौती पर फैसला ले सकती हैं।




केडिया कमोडिटी के डायरेक्टर अजय केडिया के मुताबिक क्रूड और रुपए की चाल को देखते हुए पेट्रोल में कटौती की संभावना बनी हुई है। आने वाले समय में क्रूड में गिरावट का अनुमान बना हुआ है इसके साथ रुपए में मजबूती बनी रहने की भी संभावना है। इससे आने वाले दिनों में पेट्रोल और डीजल में राहत की संभावनाएं बढ़ गई हैं।

पेट्रोल में 1-2 रुपए प्रति लीटर की कटौती संभव

केडिया के मुताबिक रुपए और क्रूड की दिशा दोनों ही सरकार के लिए फेवरेबल बनी हुई है। ऐसे में पेट्रोल की कीमतों में 1.5 रुपए प्रति लीटर और डीजल में 50 से 60 पैसे प्रति लीटर की कटौती संभव है। वहीं एंजेल कमोडिटीज के रिसर्च हेड कमोडिटीज अनुज गुप्ता ने भी कहा कि क्रूड और रुपए के संकेत देखते हुए कीमतों में कटौती की गुंजाइश बन गई है। गुप्ता के मुताबिक पेट्रोल की कीमतों में करीब 2 रुपए की कटौती हो सकती है।

एंजेल ब्रोकिंग के चीफ एनालिस्ट कमोडिटीज प्रथमेश माल्या के मुताबिक पेट्रोल और डीजल की कीमतों में कटौती की पूरी संभावना है। हालांकि कंपनियां कटौती के लिए अप्रैल अंत की जगह जगह मई मध्य की पॉलिसी रीव्यू में कटौती पर फैसला कर सकती हैं।

1 मई से 5 शहरों में हर दिन बदलेंगी कीमतें

पहली मई से देश के 5 शहरों में हर दिन के हिसाब से पेट्रोल डीजल की कीमतों में बदलाव होगा। योजना के मुताबिक आईओसी, बीपीसीएल और एचपीसीएल मई की शुरुआत से इन 5 शहरों में पायलट प्रोजेक्ट शुरू करेंगी, और बाद में दूसरे शहरों को योजना में शामिल किया जाएगा। फिलहाल ये योजना पुडुचेरी, विशाखापट्टनम, उदयपुर, जमशेदपुर और चंडीगढ़ में शुरू की जा रही है। फिलहाल तेल कीमतों की समीक्षा महीने में दो बार होती है। इंटरनेशनल मार्केट में क्रूड कीमतों और रुपए की कीमतों में उतार-चढ़ाव के आधार पर ही तेल कीमतें तय की जा रही हैं।

जानिए क्यों तेल कीमतों में कटौती का अनुमान

पिछले एक महीने के दौरान कच्चा तेल 10 फीसदी सस्ता हो गया है। वहीं इस दौरान डॉलर के मुकाबले रुपया 1 फीसदी मजबूत हुआ है। अजय केडिया के मुताबिक ये दोनो संकेत सरकार के लिए पॉजिटिव हैं, इससे कीमतों में कटौती की गुंजाइश बन गई है। 16 जनवरी के बाद से तेल कीमतों में दो बार ही बदलाव हुआ है। 16 अप्रैल को पेट्रोल कीमत 1.39 रुपए प्रति लीटर और डीजल में 1.04 रुपए प्रति लीटर बढ़त की गई। वहीं इससे पहले 31 मार्च को पेट्रोल कीमत में 3.77 रुपए प्रति लीटर और डीजल में 2.91 रुपए प्रति लीटर की कटौती की गई थी।

क्रूड कीमतों में जारी रह सकती है गिरावट

एक्सपर्ट्स के मुताबिक क्रूड कीमतों में आगे भी गिरावट देखने को मिल सकती है। प्रथमेश के मुताबिक ब्रेंट क्रूड आगे 47 डॉलर प्रति बैरल तक गिर सकता है। वहीं अजय केडिया के मुताबिक तेल के प्रोडक्शन में बढ़त देखने को मिल रही है, वहीं डिमांड में कोई बड़ा सुधार नहीं है। ऐसे में 23 मई को होने वाली तेल उत्पादक देशों की बैठक पर नजर है। अगर प्रोडक्शन की कटौती में कोई बड़ा फैसला नहीं होता तो आने वाले समय में ब्रेंट 45 के स्तर से नीचे जा सकता है और 43 का स्तर भी देखने को मिल सकता है।

If you want to more information regarding the Free Stock Cash Tips, Free Stock Cash Tips, Free Stock Future Tips  call @ 18003157801 (Toll Free No.) fill form  http://www.tradtips.com

No comments:

Post a Comment

Free Stock Tips ,Oil, rupee to boost earnings but hurt economy: Where to invest in a Catch-22 market. By TradeIndia Research 26-04-18

Free Stock Tips | Free Intraday Tips  Oil, rupee to boost earnings but hurt economy: Where to invest in a Catch-22 market. Ex...